देखा एक ख्वाब तो .....

निसार अहमद 


Courtesy www.morningnewsindia.com 

जब से सुना था कि कहीं एक साधू ने 1000 टन सोने का सपना देख डाला है, मेरा भी मन बड़ा सपना सपना हो रहा था I और कमाल देखिये कि मैं ने भी एक महान सपना देख ही डाला I कल रात की बात है I देखता हूँ कि 2014 के आम चुनाव हो गए हैं I देश में बस अब केवल सुख और समृधी है I सब से पहली घटना तो यह घटी कि नयी सरकार बनते ही स्विस बैंक का चीफ भागता हुआ भारत आया और देश के नेताओं, पूंजीपतियों, माफियाओं के गुप्त खातों में जमा सारी राशि देश के खजाने में जमा करवा गया I इस एक छोटी सी घटना से देश में अजब ग़ज़ब का परिवर्तन आया I रुपैया जो है अब 100 डॉलर में मिलता है I पेट्रोल और डीज़ल अब 2 और 1 रुपये लीटर मिलते हैं I भूख और ग़रीबी का कहीं नाम नहीं हैं I स्वस्थ एवं पुष्ट बच्चे और बच्चियाँ चारों जानिब दिखते हैं I कुछ बच्चियों ने शौक में और अपने को आकर्षक दिखाने के लिए कम खाने का चलन चला रखा है, जिसे हमारे नेता थोड़ा मुस्कुरा कर बताते हैं

ग़रीबी तो अब अतीत की बात हो गयी है I हालत यह है कि सरकार ने ग़रीबी हटाने, रोजगार बढ़ाने, खाद्य सुरक्षा प्रदान करने की सारी योजनायें बंद कर दिये हैं I बेरोज़गार कोई रहा नहीं I सो अब नरेगा - मरेगा का क्या काम I एक ऐसा कम्प्युटर युग आ गया है कि सभी बेरोज़गारों को सोश्ल नेटवर्किंग साइटों पर नए स्वप्न युग के गुणगान का काम मिला हुआ है

भारत के किसानों ने अब आत्महत्या करना बंद कर दिया है I कृषि अब अत्यंत अच्छी स्थिति में है और 10 प्रतिशत वार्षिक कि दर से वृधी कर रही है I किसानों के पास इतने पैसे हैं कि अब वो खेती में रुचि नहीं दिखाते I उन्होंने उद्योगपतियों को खुशी खुशी ऊँची दरों पर ज़मीन देना शुरू कर दिया है I खनन अब कहीं भी अवैध ढंग से नहीं होता I , बेल्लारी और गोवा में भी नहीं

चीन ही नहीं विश्व के अधिकांश देशों के बाज़ार हमारे उत्पादों से पटे पड़े हैं I हमारे उद्योगपती अब हमारे ही नहीं विश्व के सभी देशों की आर्थिक नीतियाँ तय करते हैं

पड़ोसियों से हमारे संबंध काफी अच्छे हैं पाकिस्तान ने भारत में शामिल होने का प्रस्ताव रखा, लेकिन भारत सरकार ने उसे एक आधा चपत लगा कर आगे अपने पाजामे में रहने की हिदायत दी है I  ज़ाहिर है जिसे उसने मान लिया है आतंकियों ने अब विश्व के अन्य कोनों में छिपने की जगह तलाशी है, जिनपर हमारी खुफिया एजेंसियां यहीं से नज़र रखती हैं I सीमा पर अब गोलियाँ नहीं चलतीं और केवल देशभक्ति के गीत बजते हैं I चीन वालों ने खबर भिजवाया है कि वो किसी भी लाइन को सीमा रेखा मान लेंगे बस भारत सरकार उनके झियांग, या जो भी नाम हो, प्रांत के लोगों को नत्थी वीसा न दे I  बांग्लादेशी भी अपनी फटी चादर में सिमट गये हैं

भ्रष्टाचार नाम की एक बीमारी पहले इस देश में पायी जाती थी I लेकिन अब आप किसी भी सरकारी दफ़्तर में जाइये आपको लगेगा कि स्वप्न लोक (अरे सपना ही तो है) में आ गए हैं I सारे काम समय पर बिना घूस लिए हो रहे हैं I रेल गाडियाँ समय पर चलती हैं, टिकट हमेशा उपलब्ध रहता है, और आईआरसीटीसी वैबसाइट पर कोई भी कभी भी कहीं भी टिकिट बूक करवा सकता है I रेल गाड़ी के कर्मचारी घूस न माँगते हैं न लेते हैं I वैसे रेल गाडियाँ अमूमन खाली ही रहती हैं I सब के पास नॅनो नाम की कार है और पेट्रोल हद से ज़्यादा सस्ती है I पुलिस वाले हर महिला को माता या बहन ही कहते हैं I और अब किसी लड़की या महिला को किसी बलात्कारी को भैया कहने की आवश्यकता नहीं रही क्यों कि अब हम भारत में हैं, इंडिया में नहीं और यहाँ बलात्कार होते ही नहीं

वातावरण सदा चन्दन व फूलों से सुगन्धित रहता है I गाड़ियों से हो रहे वायु प्रदूषण को चन्दन जलाकर समाप्त किया जाता है I कानफोडु लाउड स्पीकरों से अब सदा गीता, रामायण के मधुर पाठ होते हैं I जितने स्थानों पर भक्तों ने अपने भगवनों के जन्म, मृत्यु, विवाह, या किसी भी घटना के स्वप्न देखे थे, सब जगह उनके मंदिर प्रतिष्ठित हैं I

कानून व्यसथा ऐसी कि 1984 के सिख विरोधी दंगों से लेकर भागलपुर से मुजजफरनगर तक हर दंगे के दोषियों को सज़ा हो रही है I आतंकवादी घटनाओं के सारे मामले सुलझा लिए गए हैं और सभी मास्टरमाइंड पकड़े जा चुके हैं I सारे माड्यूल ध्वस्त किए जा चुके हैं I माओवादियों ने समर्पण कर दिया है I उत्तर पूर्व के राज्यों ने महान भारतीय संस्कृति और इस महान भारतीय राष्ट्र का आभार व्यक्त किया है I

सबसे मजेदार बात तो यह हो गयी है कि राजनीति में अब कोई अपराधी नहीं रहा I संसद और विधान सभाओं कि कार्यवाही अब कभी ठप नहीं होती क्यों कि विपक्षी दलों के पास कोई मुद्दा नहीं है यह शायद फिर विपक्षी दल ही नहीं रहे ज़ाहिर है अन्ना और केजरीवाल बेरोज़गार बैठे हैं I दुकान तो सूचना से लगाकर हर चीज़ का अधिकार माँगने वाली एनजीओ लोगों की भी बंद हो गयी है I अब जब देश में कोई समस्या ही नहीं रही तो लोग अधिकार किसका माँगें I

नींद खुलने से पहले टीवी पर समाचार आ रहा था कि अमेरिका के राष्ट्रपति ने हमारे प्रधानमंत्री जी, जिन्हें देश कि जनता प्यार से नमो कहती है, से मिलने का समय माँगा है जिस पर प्रधानमंत्री कार्यालय विचार कर रहा है

Courtesywww.deccanchronicle.com 


Comments

  1. कल 31/10/2013 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
    धन्यवाद!

    ReplyDelete
  2. एक निवेदन
    कृपया निम्नानुसार कमेंट बॉक्स मे से वर्ड वैरिफिकेशन को हटा लें।
    इससे आपके पाठकों को कमेन्ट देते समय असुविधा नहीं होगी।
    Login-Dashboard-settings-posts and comments-show word verification (NO)

    अधिक जानकारी के लिए कृपया निम्न वीडियो देखें-
    http://www.youtube.com/watch?v=VPb9XTuompc

    धन्यवाद!

    ReplyDelete
  3. धन्यवाद यशवंत जी

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

गोदान- समकालीन भारतीय किसान जीवन का राष्ट्रीय रूपक

बर्बर जाहिल हिन्दू तालिबानों की शर्मनाक हरकतें और कांग्रेस की आपराधिक चुप्पी